Very sad Shayari in hindi for GF and BF | Dard Bhari Shayari

Very sad Shayari (shayri) in Hindi for Girlfriend (GF) and Boyfriend (BF) with images wallpaper | Dard Bhari Shayari for Girlfriend and Boyfriend with images wallpaper

Very Sad Shayari 

 

 

1.

Very Sad Shayari

” जिनको दुनिया की निगाहों से छुपाये रखा,
जिनको इक उम्र कलेजे से लगाए रखा
दीन जिनको जिन्हें ईमान बनाए रखा,
तेरे खुशबू में बसे ख़त में जलाता कैसे “

 

” Jinko duniya ki nigahon se chhupaye rakha,
Jinko ik umra kaleje se lagae rakha
Din jinko jine imaan banae rakha,
Tere khushboo mein base khat main jalaata kaise “

2.

Very Sad Shayari

 

” जिनका हर लब्ज मुझे याद था पानी की तरह 
याद थे मुझको जो पैगामें जुबानी की तरह 
मुझको प्यारे थे जो अनमोल निशानी की तरह 
तेरे खुशबू में बसे ख़त मैं जलाता कैसे “

” Jinaka har labj mujhe yaad tha paani ki tarah 
Yaad the mujhako jo paigaamen jubaani ki tarah 
Mujhako pyaare thejo anmol nishaani ki tarah 
Tere khushboo mein base khat main jalaata kaise “

3.

very sad shayari in hindi for girlfriend

 ” तूने दुनिया की निगाहों से जो बचकर लिखे 
साल है साल मेरे नाम बराबर लिखे 
कभी दिन में तो कभी रात को उठकर लिखे 
तेरे खुशबू में बसे ख़त मैं जलाता कैसे “

 ” Tune duniya ki nigaahon se jo bachkar likhe 
Saal ha saal mere naam baraabar likhe 
Kabhi din mein toh kabhi raat ko uthkar likhe 
Tere khushboo mein base khat main jalaata kaise “

4.

Very sad shayari in hindi for girlfriend

” प्यार में डूबे हुए ख़त मैं जलाता कैसे 
तेरे हाथों के लिखे ख़त मैं जलाता कैसे 
तेरे ख़त आज मैं गंगा में बहा आया हूँ 
आग बहते हुए पानी में लगा आया हूँ  “

” pyar mein dube hue khat main jalata kaise
tere haathon ke likhe khat main jalata kaise
tere khat aaj main ganga mein baha aaya hoon
aag bahate hue paani mein laga aaya hoon “

5.

very sad shayari in hindi

” सबके चेहरे में वो बात नहीं होती,
थोड़े से अँधेरे से रात नहीं होती
जिंदगी में कुछ लोग बहुत प्यारे होते हैं,
क्या करें उन्ही से आजकल मुलाक़ात नहीं होती “

” sabke chehare mein vah baat nahi hoti,
thode se andhere se raat nahi hoti,
nindagi mein kuch log bahut pyare hote hain
kya karein unhi se aajkal mulaakat nahi hoti “

6.

very sad shayari in hindi

” चुप रहूँ तो बुरा मान जाते हैं,
कुछ कह दूं तो रूठ जाते हैं “

” chup rhun to bura maan jaate hain
kuch kah doon to rooth jaate hain “

7.

very sad shayari in hindi

” किश्ती भी न बदली दरिया भी न बदला,
हम डूबने वालों का जज्बा भी न बदला,
है शौक ए सफ़र ऐसा, एक उम्र हुई हमने
मंजिल भी न पाई और रास्ता भी न बदला “

” kashti bhi nahin badli dariya bhi na badla
ham doobne balon ka jajba bhi na badala
hai shouk ai safar aisa, ek umra hui ham ne
manjil bhi nahin paai or rashta bhi na badla “

8.

sorry sad shayari in hindi

” हम से कोई गिला हो जाए तो सॉरी,
आपको याद न कर पाए तो सॉरी,
वैसे दिल से आपको भूलेंगे नहीं,
पर हमारी धड़कन ही रूक जाए तो सॉरी “

” ham se koi gila ho jaaye to sorry,
aapko yaad na kar paay to soory
vaise dil se aapko bhoolenge nahi,
par hmaari dhadkan hi rook jaaye to soory “

9.

Very Sad shayari in hindi

” अब तो इस राह से वो शख्स गुजरता भी नहीं,
अब किस उम्मीद से दरवाजे से झांके कोई “

” ab to is rah se vo shakhs gujarta bhi nahin,
ab kis ummid pe darvaaje se jhaanke koi “

10.

very sad shayari in hindi

” जिनकी ख्वाइश में हर रोज मरते हैं,
वो आये ना आये हम इंतज़ार करते हैं,
झूठा ही सही मेरे यार का वादा है,
हम सच मान कर ऐतबार करते हैं “

” jinki khwaaish mein har roj marte hain
vo aaye n aaye ham intezzar karte hain
jhootha hi sahi mere yaar ka vaada hai,
ham sach maan kar aitbaar karte hain “

11.

” न हम रहे दिल लगाने के काबिल,
न दिल रहा गम उठाने के काबिल,
लगा उसकी यादों का जो जख्म दिल पर
न छोड़ा उसने मुस्कराने के काबिल “

” na ham rahe dil lagane ke kabil
na dil raha gam uthane ke kaabil
laga uski yadon ka jo jkhm dil par
na chhoda usne muskaraane ke kaabil “

12.

very sad shayari in hindi

” दिल गुमसुम, जुबां खामोश…, ये आँखें आज नाम क्यों हैं,
जो कभी अपना हुआ ही नहीं, उसे खोने का गम क्यों हैं “

” dil gumsum…
juban khaamosh…
ye aankhein aaj nam kyon hain
jo kabhi apna hua hi nahin
use khone ka gam kyon hain “

13.

” सुना है की समंदर को बहुत गुमान आया है,
उधर ही ले चलो किश्ती जिधर तूफान आया है “

” suna hai ki samandar ko bahut gumaan aaya hai,
udhar hi le chalo kishti jidhar tuphaan aaya hai “

14.

” सब खुशियाँ तेरे नाम कर जाएंगे,
जिंदगी भी तुझ पे कुर्बान कर जायेंगे,
तुम रोया करोगे हमें याद कर के हम
तेरे दामन में इतना प्यार भर जायेंगे “

” sab khushiyan tere naam kar jaayenge
jiindagi bhi tujh pe kurbaan kar jaayenge
tum roya kroge hmein yaad kar ke ham
tere daaman mein itna pyar bhar jaayenge “

15.

” ऐ वादा फरामोश तेरी खैर हो लेकिन,
एक बात मेरी मान तू वादा ना किया कर “

” ai vaada phramosh teri khair ho lekin,
ek baat meri maan too vaada naa kiya kar “

16.

” ना मैं तुम्हे खोना चाहता हूँ,
न तेरी याद में रोना चाहता हूँ

जब तक जिंदगी है,
मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहना चाहता हूँ “

” na mein tumhe khona chahta hoon,
na teri yaad mein rona chahta hoon
jab tak jindagi hai,
main hamesha tumhare saath
rahana chahta hoon “

17.

” इस बहते दर्द को मत रोको
यह तो सजा है किसी के इंतज़ार की
लोग उन्हें आंसू कहे या दीवानगी
पर यह तो निशानी है किसी के प्यार की “

” is bahate dard ko mat roko,
yah to saja hai kisi ke intazaar ki,
log unhe aansoo kahe ya divaangi
par yah to nishani hai kisi ke pyaar ki “

18.

” टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता,
इश्क में मरीज को आराम नहीं आता
ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता,
की टूटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता “

” toote hue pyaale mein jaam nahi aata,
ishk mein marij ko aaram nahi aata
ye bewafa dil todne se pehale ye soch to liya hota
ke toota hua dil kisi ke kaam nahi aata “

19.

” उद्दास लम्हों की न कोई याद रखना,
तूफान में भी वजूद अपना संभालकर रखना
किसी की जिंदगी की ख़ुशी हो तुम,
यही सोच कर तुम अपना ख्याल रखना “

” uddas lamhon ko na koi yaad rakhna,
tuphaan mein bhi vjood apna sambhaal kar rakhna,
kisi ke jindagi ki khushi ho tum,
yahi soch kar tum apna khyaal rakhna “

20.

” वो मेरी बातों को समझ नहीं पाते,
क्यूंकि में सच लिखता हूँ
और उन्हें झूठ पढने की आदत है “

” vo meri baaton ko samajh nahi paate
kyunki mein sach likhta hoon
or unhe jhooth padhne ki aadat hai “

21.

” एक लफ्ज मोहब्बत था,
एक लफ्ज जुदाई था,
एक वो ले गई, एक मुझे दे गई “

” ek laphj mohabbat tha,
ek laphj judai tha,
ek vo le gai, ek mujhe de gai “

22.

” किसी को इश्क की अछे ने मार डाला
किसी को इश्क की गहराई ने मार डाला
करके इश्क कोई न बच सका
जो बच गया उसे तन्हाई ने मार डाला “

“kisi ko ishk ki achhai ne maar dala,
kisi ko ishk ki gaharai ne maar dala,
kare ishk koi na bach saka,
jo bach gaya use tnhaai ne maar daala “

23.

जलाकर हसरत की रह पर चिराग आरजू के,
हम तन्हा रातों में , तेरे मिलने का इंतज़ार करते हैं

jalakar hasrat ki rah par chirag aarjoo ke
ham tnha raton mein, tere milne ka intezaar karte hain.

24.

जिंदगी में आपकी एहमियत बता नहीं सकते, दिल में आपकी जगह दिखा नहीं सकते,
कुछ रिश्ते अनमोल होते हैं, इससे ज्यादा आपको समझा नहीं सकते

jindagi mein aapki ehmiyat bata nahi sakte
dil mein aapki jagah dikha nahi sakte
kuch rishte anmol hote hain
issse jyada aapko samjha nahi sakte

25.

सब खुशियाँ तेरे नाम कर जायेंगे,
जिंदगी भी तुझ पे कुर्बान कर जायेंगे,
तुम रोया करोगे हमें याद कर के,
हम तेरे दामन में इतना प्यार भर जायेंगे

sab khushiyan tere naam kar jaayenge,
jindagi bhi tujh pe kurbaan kar jaayenge,
tum roya kroge hmein yaad kar ke,
ham tere daaman mein itna pyaar bhar jaayenge

26.

जहां से तेरा मन चाहे, वहां से मेरी जिंदगी को पढ़ ले तू,
पन्ना चाहे कोई भी खुले, हर पन्ने पर तेरा ही नाम होगा

jahaan se tera man chage vahan se meri jindagi ko padh le too,
panna chahe koi bhi khule har panne par tera hi naam hoga

27.

कल भी हम तेरे थे, आज भी हम तेरे हैं,
बस फर्क इतना है पहले अपनापन था, अब अकेलापन है

kal bhi ham tere the, aaj bhi ham tere hain
bas phark itna hai pahale apnapan tha, ab akelapan hai

28.

जिसे कभी डर न था मुझे खोने का,
वो क्या अफसोस करेगी मेरे ना होने का

jise kabhi dar nahi tha mujhe khone ka,
vo kya aphsos karegi mere naa hone ka

29.

” भला हाथों की लकीरें भी मिटती हैं कभी
कितना पागल है मेरा नाम मिटाने वाला “

” bhala hathon ki lakeerain bhi mitti hain
kitna pagal hai mera naam mitaney wala…. “

30.

इश्क कभी झूठा नहीं होता, झूठे तो बस कसमें, वादे और लोग होते हैं

ishk kabhi jhutha nahi hota, jhoothe to bas kasmein, baade or log hote hain

31.

मेरे दिल का दर्द किसने देखा है, मुझे बस खुदा ने तड़पते देखा है,
हम तन्हाई में बैठे रोते हैं, लोगों ने हमें महफिल में हंसते देखा है

mere dil ka dard kisne dekha hai, mujhe bas khuda ne tadapte dekha hai
ham tanhai mein baithe rote hain, logon ne hmein mehphil mein hansate dekha hai

32.

” गेरों के संग हस्ती है तू मुझे छोड़ कर,
बताना तो जरा तू कितनी खुस है तू मुझे छोड़ कर “

” geron ke sang hasti hai tu mujhe chod kar,
batana to jara tu kitni khus hai tu mujhe chod kar “

33.

किसी को क्या बताएं की, कितने मजबूर हैं हम,
चाहा था सिर्फ एक तुमको और अब तुम से ही दूर हैं हम

kisi ko kya btaayein ki kitne majboor hain ham
chah tha sirf ek tumko or ab tum se hi door hain ham

34.

कुछ ठोकरों के बाद समझदार हो गए हम,
अब दिल के मशवरों पर अमल नहीं करते

kuch thokaron ke baad samajhdaar ho gaye ham
ab dil ke mshvaron par amal nahi karte

35.

मेरे मरने पर सब खुश हों गए फ़राज़,
बस इक तन्हाई रोएगी की मेरा हमसफ़र चल बसा

mere marne par sab khush hon gay faraz,
bas ik tanhai roegi ki mera hamsafar chal basa

36.

” कितना सुकून देती है तुझे, दौलत उस रहीस जादे की,
बड़ी थोड़ी कीमत लगाईं तूने अपने, न छोड़ कर जाने वाले वादे की “

” kitna sukoon deti hai tujhe doulat us rahis jaade ki,
badi thodi kimat lagaai tune apne na chod kar jaane waale vaade ki “

37.

जीने की ख्वाइश में हर रोज मरते हैं,
वो आये न आये हम इंतज़ार करते हैं
झूठा ही सही मेरे यार का वादा,
हम सच मान कर ऐतबार करते हैं

jine ki khwaish mein har roj marte hain,
vo aaye na aaye ham intezaar karte hain
jhootha hi sahi mere yaar ka vaada
ham sach maan kar aitbaar karte hain

38.

कुछ गिले शिकवे हों तो दूर कर लेने चाहिए,
खामोशियाँ अच्छी नहीं होती रिश्तों के बीच

kuch gile shikve hon to door kar lene chahiye,
khaamoshiyan acchi nahi hoti rishton ke bich

39.

आज बरसों बाद मिली तो, गले लगकर खूब रोई वो
कभी जिसने कहा था, तेरे जैसे हजारों मिलेंगे

aaj barson baad mili to, gale lagkar khoob roi vo
kabhi jisne kaha tha, tere jaise hjaaron milenge

40.

वो रूठा हुआ साक्ष आज बहुत याद आया,
वो गुजरा हुआ कल आज बहुत याद आया,
मेरा दर्द छुपा लेते थे जो अपने सीने मे,
आज फिर दर्द हुआ तो आज बहुत याद आया

vo rutha hua saksh aaj bahut yaad aaya, vo gujra hua kal aaj bahut yaad aaya
mera dard chupa lete the jo apne sine mein, aaj phir dard hua to aaj bahut
yaad aaya

41.

हर तरफ ख़ामोशी का साया है, जिए देखो वो ही पराया है,
गिर पड़ा हूँ, मोहब्बत की भूख से, और लोग कहेते हैं पी कर आया है

Har Taraf Khamoshi Ka Saya Hai, Jise Dekho Wo He Paraya Hai
Gir Pada Hu Mohobbat Ki Bhookh Se, Aur Log Kahete Hai Pee Kar Aaya Hai!

42.

सुना है तुम लेते हो हर बात का बदला,
आजमाएंगे कभी तुम्हारे लबों को चूम कर

suna hai tum lete ho, har baat ka badla,
aajmaayenge kabhi tumhare labon ko choom kar

42.

काश यह जालिम जुदाई न होती,
ऐ खुदा तूने यह चीज बनाई न होती,
न हम उनसे मिलते न प्यार होता,
जिंदगी जो अपनी थी वो पराई न होती

kaash yah jaalim judai na hoti,
ai khuda tune yah chij bnaai na hoti,
na ham unse milte na pyar hota
jindagi jo apni thi vo paraai na hoti

43.

प्यार करते हो मुझसे तो इजहार कर दो,
अपनी मोहब्बत का जीकर आज सरे आम कर दो,
नहीं करते अगर प्यार तो इनकार कर दो,
ये लो मेरा मासूम दिल इसके टुकड़े हजार कर दो

pyar karte ho mujhse to ijhaar kar do,
apni mohbbat ka jikar aaj sare aam kar do
nahi karte agar pyar to inkaar kar do,
ye lo mera maasum dil iske tukde hzaar kar do

44.

” मेरे दिल के जख्मों पर कोई मरहम लगा न सका, जिस पर ऐतबार कर लूं ऐसा इंसान मैं प् न सका,
कितना दर्द होता है किसी से बिछड़ कर मेरे यारो, यह बात जिंदगी में हमें कोई समझा न सका “

” mere dil ke hakhmon par koi marham laga na saka,
jis par aitbaar kar loon aisa insaan main pa na saka,
kitna dard hota hai kisi se bochad kar mere yaro
yah baat jindagi main hmain koi samjha na saka “

45.

किस हक़ से मांगूं अपने हिस्से का वक्त आपसे,
क्योंकि ना आप मेरे और न ही वक्त मेरा

kis hak se maangon apne hisse ka vakt aapse
kyonki na aap mere or na hi vakt mera

46.

रो दूं सामने अगर तुम्हारे, तो समझ जाना
तुम मेरी बर्दाश्त की वो आखिरी हद थी

ro doon saamne agar tumhaare, to samajh jaana
tum meri bardaash ki vo aakhiri had thi

47.

किसी को अपना बनाने में डर लगता है,
किये हुए वादों को निभाने में डर लगता है,
ये प्यार तो पल भर में हो जाता है,
पर बिछड़ने को भूलने में पूरी उम्र भी कम पड़ती है
ये प्यार तो पल भर में हो जाता है,
पर बिछड़ने को भूलने में पूरी उम्र भी कम पड़ती है

kisi ko apna bnaane mein dar lagta hai,
kiye hue vaadon ko nibhaane mein der lagati hai,
ye pyar to pal bhar mein ho jaata hai,
par bichhadne ko bhoolne mein poori umra bhi kam padti hai

48.

” मंजिलें मुश्किल थी पर हम खोये नहीं,
डर था दिल में पर हम रोये नहीं,
कोई नहीं आज हमारा हाल जो पूछे हम से,
जाग रहे हो किसी के लिए, या किसी के लिए सोये नहीं, “

” manjilein mushkil thi par ham khoye nahin,
dard tha dil main par ham roye nahin,
koi nahin aaj hamaara haal jo puche ham se,
jaag rahe ho kisi ke liye, ya kisi ke liye soye nahi “

49.

आंसू गिरने की आहात नहीं होती,
दिल टूटने की आवाज़ नहीं होती,
अगर होता उन्हें एहसास दर्द का,
तो दिन तोड़ने की उनकी आदत न होती

aansu girne ki aahat nahi hoti, dil tootne ki aawaaz nahi hoti,
agar hota unhe ehsaas dard ka, to din todne ki unki aadat naa hoti
50.

दिन भी ठीक से नहीं गुजरता, और रात भी बड़ी तडपाती है,
क्या करूं यार तेरी, याद ही जो इतना आती है

din bhi thik se nahi gujarta or raat bhi badi tadpaati hai,
kya kroon yaar teri yaad hi jo itna aati hai
51.

चलो अब जाने भी दो, क्या करोगे दांस्ता सुनकर,
खामोशी तुम समझोगे नहीं, और बयां हम से होगा नहीं

chalo ab jaane bhi do, kya karoge daansta sunkar
khaamoshi tum samjhoge nahi or bayan ham se hoga nahi
52.

” डूबी हैं मेरी उँगलियाँ मेरे ही खून में,
यह कांच के टुकड़ों पे भरोसे की सजा है, “

” doobi hein meri ungliyan mere hi khoon mein
yeh kaanch ke tukdon pe bharose ki saja hai “

53.

वफा का दरिया कभी रुकता नहीं,
इश्क में प्रेमी कभी झुकता नहीं,
खोश हैं हम किसी की ख़ुशी के लिए
न सोचो के हमारा दिल दुखता नहीं

vapha ka dariya kabhi rukta nahin,
iskh mein premi kabhi jhukta nahi,
khamosh hain hain ham ksisi ke khushi ke liye,
naa socho ke hamaara dil dukhta nahi

54.

कभी चुपके से मुस्कुरा कर देखना,
दिल पर लगे पहरे हटा कर देखना,
ये जिंदगी तेरी खिलखिला उठेगी,
खुद पर कुछ लम्हे लूटा कर देखना

kabhi chupka se muskura kar dekhna,
dil par lage pahare hata kar dekhna,
ye jindagi teri khilkhilati uthegi,
khud par kuch lamhe loota kar dekhna

55.

” कभी रो के मुस्कुराये कभी मुस्कुरा के रोये
जब तुम्हारी याद आई तो तुम्हे याद करके रोये
लिखा था तुम्हारा नाम हज़ार बार
हुई थी लिख हर जिसे ख़ुशी उसे मिटा के रोये “

” Kabi Ro Ke Muskuraye Kabi Muskura Ke Roye
Jab Tumhari Yaad Aaye To Tumhe Bula Ke Roye
Likha Tha Tumhara Naam Hazaar Bar
Hue Thi Likh Kar Jise Khushi Use Mita Ke Roye “

56.

खता हो गई तो फिर सजा सुना दो,
दिन में इतना दर्द क्यूँ है वजह बता दो,
देर हो गई याद करने में जरूर लेकिन,
तुमको भूला देंगे ये ख्याल दिल से मिटा दो

khata ho gai to phis saja suna do, din mein itna dard kyun hai vajah bata do
der ho gai yaad karne mein jaroor lekin, tumko bhoola denge ye kyaal dil se mita do

57

मत किया कर ऐ दिल, किसी से मोहब्बत इतनी,
जो लोग बात नहीं करते, वो प्यार क्या करेंगे

mat kiya kar ae dil kisi se mohbaat itne,
jo log baat nahi karte vo pyaar kya karenge

58.

आंसूओं को पलकों तले लाया मत करो,
दिल की बात किसी को बताया न करो,
लोग मुठी में नाकाम लिए फिरते हैं,
अपने जख्म उन्हें दिहाया न करो

aansuon ko pankon tle laya mat karo,
dil ki baat kisi ko bataya na karo,
log muthi mein nakam liye phirte hain,
apni jakhm unhe dikhaya mat karo

59.

” मुझको आता देख मुंह को अब अपने फेर लेती है,
न जाने मेरी सूरत नहीं पसंद अब या शरमिंदगी उन्हें घेर लेती है, “

” mujhko aata muh ko ab apne pher leti hai
na jaane meri surat nahi pasand ab ya sharmindagi unhe gher leti hai “

60.

आज हम हैं, कल हमारी यादें होंगी,
जब हम न होंगे तब हमारी बातें होंगी,
कभी पलटोगे जिंदगी के ये पन्ने,
तब शायद आपकी आँखों से भी बरसातें होंगी

aaj ham hain, kal hmaari yaadein hongi,
jab ham naa honge tab hamaari baatein hongi,
kabhi pltoge jindagi ke ye panne, tab shayad aapko aankhon se
bhi barsaatein hongi

61.

लोग इश्क में जान बने की बात करते हैं, पर देता कोई नहीं
हम तो हथेली पर जान लिए बेठे हैं, कम्बख़त कोई मांगता ही नहीं

log ishq mein jaan dene ki baat,
karte hain par deta koi bhi nahi,
ham to htheli par jan liye bethey hain
kambakhat koi maangta hi nahi

62.

तलाश करो कोई तुम्हे मिल जाएगा,
मगर हमारी तरह तुम्हे कौन चाहेगा,
जरूर कोई चाहत की नज़र से तुम्हे देखेंगे,
मगर आँखें हमारी कहाँ से लाएगा

talash karo koi tumhe mil jaayega
magar hmaari tarah tumhe kaun chahega
jaroor koi chahat ki nazar se tumhe dekhega
magar aankhein hmaari kahan se laayega

63.

आदत नहीं, यूँ हर किसी पे मर मिटने की,
पर तुम्हे देखकर दिल ने सोचने तक की मोहलत न दी

mujhe aadat nahi, yun hat kisi pe mar mitne ki,
par tuhe dekhkar dil ne sochne tak ki mohlat na di

64.

” न जाने मेरे प्यार में ऐसी खता क्या हो गई,
जान जान कहते हुए, न जाने मेरी जान कहाँ खो गई, “

” na jaane mere pyar mein aisi khata kya ho gai
jaan jaan kahate hue, na jaane meri jaan kahan kho gai “

65.

एक रास्ता यह भी है, मंजिलों को पाने का,
की सीख लो तुम भी हुनर, हाँ में हाँ मिलाने का

ek raasta yah bhi hai, manjilon ko paane ka
ki sikh lo tum bhi hunar haan mein haan milaane ka

66.

हर धधन में एक राज होता है,
हर बात को बताने का एक अंदाज़ होता है,
जब तक ठोकर न लेगे बेवफा की,
हर किसी को अपने प्यार पे नाज़ होता है

har dhadkan mein ek raaj hota hai
har baat ko btaane ka ek andaar hota hai
jab tak thokar n lage bevafai ki
har kisi ko apne pyar pe naaz hota hai

67.

तन्हा रहना सीख लिया हमने,
पर खुश कभी न हम रह पायेंगे,
तेरी दूरी सहना सीख लिया हमने,
पर तेरी दोस्ती के बिना जी नहीं पायेंगे

tanha rahna sikh liya hmne, par khush kabhi na ham rah paayenge
teri doori sahana sikh liya hamne, par teri dosti ke bina ji nahi paayenge

68.

चल रही हैं, साँसे तेरे बगेर जिंदगी की,
मगर अब ये जिंदगी जिंदगी नहीं लगती

chal rahi hain, saanse tere bagair jingagi ki, magar ab ye jindagi
jindagi nahi lagti

69.

” रात रात भर तेरे साथ तेरा नया हम दम जगाता है या नहीं,
तेरे इशारे पे अग्गे पीछे तेरे वो भागता है या नहीं,
आएगी तुझे समझ जब, कोई ऐसे ही तड़पता छोड़ जाएगा,
तब सझेगी दर्द मेरा जव बो तुझे अपनी आदत डाल कर तेरा दिल तोड़ जाएगा “

” raat raat bhar tere saath tera naya ham dam jagata hai ya nahi,
tere ishaare pe aage pichhe tere vo bhagata hai ya nahi,
aaegi tujhe samajh jab, koi aise hi tadapata chod jaaega,
tab samjhegi dard mera jab vo tujhe apni aadat daal kar tere dil
tod jaaega “

70.

खता हो गई तो फिर सजा सुना दो,
दिल में तीन दर्द क्यूँ है वजह वता दो,
देर हो गई याद करने में जरूर लेकिन,
तुमको भुला देंगे ये ख्याल दिल से मिटा दो

khata ho gai to phir saja suna do,
dil mein itna dard kyun hai vajah bata do,
der ho gai yaad karne mein jaroor lekin,
tumko bhula denge ye khyaal dil se mita do

71.

जिस शाम बरसते हैं तेरी याद के बादल,
उस शाम कोई भी हिज्र का तारा नहीं होता,
यूँ ही मेरे पहलू में चले आते हैं अक्सर,
वो दर्द जिन्हें मैंने पुकारा नहीं होता

jis shaam barsate hain teri yaad ke baadal,
us shab koi bhi hizr ka taara nahi hota,
yun hi mere pehalu mein chale aate hain aksar,
vo dard jinhe maine pukara nahi hota

72.

टूटा हो दिल तो दुःख होता है, करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है,
दर्द का एहसास तो तब होता है, जब किसी से मोहब्बत हो और उसके दिल में कोई और होता है

toota ho dil to dukh hota hai, karke mohabbat kisi se ye dil rota hai,
dard ka ehsaas to tab hota hai, jab kisi se mohbbat ho or uske dil mein koi
or hota hai.

73.

वो दिल ही क्या जो वफ़ा न करे,
तुझे भूल कर जिए कभी खुदा न करे,
रहेगी तेरी मोहब्बत मेरी जिंदगी बन कर,
वो बात और है, अगर जिंदगी वफ़ा न करे

vo dil hi kya jo vafa na kare
tujhe bhool kar jiye kabhi khuda na kare
rhegi teri mohbbaat meri jindagi ban kar,
vo baat or hai, agar jindagi vafa na kare

74.

” जब कभी भीड़ में भी तुम्हारी शामें उदास हों,
उदासी की परवाह करने वाला भी न कोई पास हो,
तब बेरुखे से अपने वो आखिरी जवाद याद करना,
तुम्हारी हलकी सी मायूसी पर भेजे, मेरे गुलाब याद करना “

” jab kabhi bhid mein bhi tumhari shaamein udaas hon,
udaasi ki parvaah karne vaala na koi paas ho,
tab berukhe se apne vo aakhiri jvaab yaad karna,
tumhari halki si maayusi par bheje mere gulab yaad karna “

75.

दुआएं खुशिया मिले आपको, खुदा से रहमत और प्यार मिले आपको,
आपके होंठों पर बनी रहे हमेशा मुस्कान, इतनी खुशियाँ मिले आपको

duaaein khushiya mile aapko,
khuda se rahmat or pyaar mile aapko,
aapke honthon par bani rahe hmesha mushkaan,
itni khushiya mile aapko

76.

अगर जो दिल की सुनो तो हार जाओगे, हम जैसा प्यार फिर कहाँ से पाओगे,
जान देने की बात तो हर कोई करता है, जिंदगी बनाने वाला कहाँ से लाओगे,
जो एक नज़र देखोगे हमें, हर तरफ हमको ही पाओगे
यकीं अपनी चाहत का इतना है मुझे, मेरी आँखों में झाकोगे और लोट आओगे
मेरी यादों के समंदर में जो डूब गए तुम, कहैं जाना भी चाहोगे तो जा नहीं पाओगे

agar jo dil ki suno to haar jaaoge, ham jaisa pyar phir kahan se paaoge,
jaan dene ki baat to har koi karta hai, jindagi banaane vaala kahan se laaoge,
jo ek nazar dekhoge hamein,har taraf hamko hi paaoge,
yakin apni chahat ka itna hai mujhe, meri aankhon mein jhaankoge or lot aaoge
meri yaadon ke samandar mein jo doob gaye tum, kahin jaana bhi chahoge to ja nahi paagoge

77.

हम अल्फाजों से खेलते रह गए,
और वो दिल से खेल के चली गई

ham alphajon se khelte rah gaye,
or vo dil se khel ke chali gai

78.

गुस्से में जो छोड़ जाए वो वापस आ सकता है,
मुस्कुराकर छोड़कर जाने वाला कभी वापस नहीं आता

gusse mein jo chod jaaye vo vaapas aa sakta hai
muskurakar chodkar jaane vaala kabhi vaapas nahi aata

79.

तुम भी चाहत के समंदर में उतर जाओगे,
खुशनुमा से किसी मंजर पे ठहर जाओगे,
मैंने यादों में तुम्हे इस तरह पिरोया है,
मैं जो टूटी तो सनम तुम भी बिखर जाओगे

tum bhi chahat ke samandar mein utar jaaoge,
khushnuma se kisi manjar pe thahar jaaoge
meine yaadon mein tumhe is tarah piroya hai
main jo tooti to sanam tum bhi bikhar jaaoge

80.

जख्म खान कहाँ से मिले हैं, छोड़ इन बातों को
जिंदगी तू बता सफत, और कितना बाकी है

jakhm khaan kahaan se mile hain, chod in baaton ko
jindagi tu bata safar, or kitna baaki hai

81.

हम तुम्हे पा कर, खोना नहीं चाहते,
जुदाई में आप की रोना नहीं चाहते,
आप हमारे ही रहना हमेशा प्यार बनकर,
हम भी किसी और के होना नहीं चाहते

ham tumhe pa karkhona nahi chahate,
judai mein aap ki rona nahi chahte
aap hmaare hi rahana hmesha pyar bankar
ham bhi kisi or ke hona nahi chahte

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *